सफेद घर में आपका स्वागत है।

Sunday, May 25, 2008

मुम्बई मे नई हिन्दी लाईब्रेरी खुली है .

पता है - जीवन प्रभात विमला पुस्तकालय , ऐ - ४/१ कृपा नगर, जैन मन्दिर के सामने, इर्ला ब्रिज, विलेपार्ले , मुम्बई -५८,
फ़ोन नम्बर -०२२- २६७१६५८७
किताबे जो मिलती है - इन्ही हथियारों से - अमरकांत, सारा आकाश - राजेंद्र यादव, अधूरा गाव - रही मासूम मानसरोवर (८ भाग) - प्रेमचंद, और साथ ही शरद जोशी, दुष्यंत कुमार, नरेन्द्र कोहली, अमृता प्रीतम, अशोक चक्रधर, मंटो, बेदी, शिवानी - और ऐसे ही लेखकों से भरी ये लाइब्रेरी अभी हाल ही मे खुली है। मैंने जाकर देखा तो दंग रह गया। मात्र पचास रुपये मासिक फीस और ये खजाना - और वो भी मुम्बई मे , वाह ।
कही पर ममता कालिया , कही पर मत्रेयी पुष्पा बगल मे ही रामदरश मिश्रा हैं तो कही कोने मे अशोक चक्रधर हस रहे है और पुछ रहे है कहो कैसे यहाँ आना हुआ इस मुम्बई मे , वही बगल मे ही इस्मत चुगताई भी सिमटी मिलीं तो लगा जैसे प्रेमचंद अपने आठ मानसरोवर से उन्हें भीगा रहे हैं। एक तरफ महादेवी भी दिखाई पड़ी , निचे के रैक मे देखा तो फनिस्वर्नाथ रेणू कह रहे थे यार यहाँ थोड़ा मैला आँचल है , बगल मे ही विवेकी रे भी पलथी मारे मुस्करा रहे थे और जैसे पूछ रहे थे क्यों कैसी रही हम लोगों की मंडली। चलने लगा तो पीछे से अमरकांत कहने लगे जा रहे हो तो सफ़ेद घर मे ही न रह जाना।
मैं मन ही मन ठान चुका था , सफ़ेद घर मे रहूँ या नहीं, सफ़ेद घर मे चर्चा जरूर करूंगा।
फ़िर अपनी स्टाईल मे कहूँगा - Recommended by Safed Ghar .

5 comments:

vimal verma said...

अच्छी ख़बर दी है आपने....बहुत बहुत शुक्रिया
महोदय इस वर्ड वैरीफ़िकेशन तो हटा ही दें तकलीफ़ होती है इससे......

अनुनाद सिंह said...

बहुत अच्छा कदम है। इस तरह के कार्यों का प्रचार-प्रसार और स्वागत होना चाहिये।

विजयशंकर चतुर्वेदी said...

जानकारी देने का शुक्रिया! वैसे जीवनप्रभात प्रकाशन वाले दोनों भाई हमारे पुराने मित्रों में से हैं. उन्हें इस पहल पर बहुत-बहुत बधाई!

anitakumar said...

हम मुंबई वासियों के लिए अच्छी जानकारि॥धन्यवाद

अनूप शुक्ल said...

अभी क्या हाल-चाल हैं इन खलीफ़ा बुजुर्गों के?

फोटो ब्लॉग 'Thoughts of a Lens'

फोटो ब्लॉग 'Thoughts of a Lens'
A Photo from - Thoughts of a Lens

ढूँढ ढाँढ (Search)

© इस ब्लॉग की सभी पोस्टें, कुछ छायाचित्र सतीश पंचम की सम्पत्ति है और बिना पूर्व स्वीकृति के उसका पुन: प्रयोग या कॉपी करना वर्जित है। फिर भी; उपयुक्त ब्लॉग/ब्लॉग पोस्ट को हापइर लिंक/लिंक देते हुये छोटे संदर्भ किये जा सकते हैं।




© All posts, some of the pictures, appearing on this blog is property of Satish Pancham and must not be reproduced or copied without his prior approval. Small references may however be made giving appropriate hyperlinks/links to the blog/blog post.